एनआईटी हमीरपुर के छात्र ने मजदूरों के लिए इकठ्ठा किए फंड

Spread the love

आज पूरे विश्व के साथ भारत भी कोरोना वायरस के इस महामारी से जूझ रहा है इस समय पूरा देश लॉकडाउन होने के कारण रोज के देहाड़ी पर निर्भर रहने वाले मजदूरों को कहीं कार्य नही मिल रहा जिससे कि उन्हें अपने परिवार का पालन पोषण करने में बहुत मुश्किलो का सामना करना पड़ रहा है।

इसको देखते हुए आज राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) हमीरपुर में अध्ययन कर रहें इंजीनियरिंग के छात्र विकास कुमार अपने आस पास के लोगो को देखकर बहुत प्रभावित हुए और उन्होंने देखा कैसे दैनिक मजदूरी करने वाले लोग और उनका परिवार,बच्चे भूखे सो रहे हैं तो इन्होंने सोचा अगर हम सक्षम हैं तो क्यों ना हम इनके लिए कुछ करें।

साथ में इस आईडिया को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म आई एम एन एनआईटियन टीम के साथ भी साझा किया उन्होंने इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से विभिन्न एनआईटी के छात्रों को देश हित में मदद करने को जागरूक किया जिससे इस प्लेटफॉर्म से जुड़े सभी छात्रों ने प्रधानमंत्री राहत कोष में मदद किया एवं कुछ लोग अपने इर्द गिर्द झुग्गी बस्तियों में रहने वाले लोगों के पास जाकर कुछ राहत सामग्री भी बाटने का कार्य किया।

इस आईडिया को इन्होंने अपने दोस्तो से बात किया और अपने कॉलेज के सीनियर,एलुमनाई,दोस्तो,सहपाठियों,शिक्षकों के द्वारा डोनेशन के माध्यम से फण्ड इकट्ठा किया और अपने साथियों अभिषेक कुमार,आकाश कुमार,सत्यम त्रिपाठी,श्रवण कुमार,अल्लाउदीन अंसारी,दीपक,प्रवेश और अपने ग्राम हफुआ बलराम के कुछ जागरूक साथियों के साथ  अपने गांव के साथ साथ पड़ोस के भी दो गाँव में 140 जरूरतमंद परिवार को राहत सामग्री खाद्य पदार्थ बंटवाया जिससे उनका 10 दिन का भोजन अच्छे से निर्वहन हो सके।

जिसमे आलू, प्याज, चावल, आटा, दाल, तेल, बेसन, सोयाबीन, नमक, हल्दी, साबुन, सेनिटाइजर, मास्क, बिस्कुट शामिल है। इसके साथ ही सोशल डिसटेनसिंग और इस वायरस से बचाओ के बारे में जानकारी दिया और सरकार द्वारा दिये गए निर्देशों को पालन करने के लिए भी जागरूक किया ।।

To help Vikas do bigger, contribute to him at : https://milaap.org/fundraisers/support-abhishek-118?utm_source=facebook&utm_medium=fundraisers-footer&fbclid=IwAR3-mAu7uVRhMJQ0zFuDMyrOYahMcrWb28YpVTHQdfFy_s23wWPzloLKW5o

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *